Green Ek prernadayak Kahani Jo aapke dekne ka najariya badal de

Green Ek prernadayak Kahani Jo aapke dekne ka najariya badal de
:- दोस्तो हमारे जीवन में बहुत संघर्ष हैं। Green यह प्रेरणादायक कहानी आपके जीवन में बहुत बड़ा परिवर्तन लाएंगी 2 minute का समय निकालकर जरूर पढ़ें।

Green Ek prernadayak Kahani Jo aapke dekne ka najariya badal de
Green Ek prernadayak Kahani Jo aapke dekne ka najariya badal de


एक बार एक अमीर आदमी को उसकी आंख का दर्द स्ता रहा होता है। वो कई सारे Doctors को दिखाता है कई सारी Medicines खाता है। फिर कोई उसे बताता है कि एक ऐसे संत है जो इस तरह का इलाज करते हैं।

वो अमीर आदमी उस संत को बुलाता है, संत आते हैं और उसकी आंख को देखते हैं और उसको एक उपाय (Solution)  देते हैं। वो संत कहते हैं इस आदमी की आंख को ठीक करने के लिए कुछ समय तक इसकी आंखो के सामने सिर्फ हरा रंग रहना चाहिए उसकी आंखो के आगे कोई और रंग नहीं रहना चाहिए।

उस आदमी के यहां हरा रंग अा जाता है, ट्रक भरकर अा जाते है। उस आदमी की आंखे जिस चीज पर पड़ती उससे पहले ही उसके आदमी उस चीज को हरा कर देते हैं। फिर चाहे उसका घर हो हर चीज को हरे रंग से रंगते जाते हैं। अपने आस-पास की हर चीज को वो हरा करने के लिए वो आदमी अपना पैसा बहाता है और अपनी wealth याने संपत्ति को कम करते जाता है।

उस आदमी के आंख का दर्द कम होने लगता हैं वो और पैसा बहाता है कि उसकी आस-पास की हर चीज हरी हो जाए। कुछ दिन के बाद वो संत उस आदमी का पता लेने के लिए आते हैं तो उनके कपड़े संतरी रंग के होते हैं, ये देखते ही संत के ऊपर हरे रंग की बाल्टी भरकर डाल दी जाती है जिससे कि संत उस आदमी के सामने जाए तो उसकी आंखो पर कोई फर्क ना पड़े।

यह देखकर संत हंसते हैं और कहते हैं कि मूर्खों तुमने हर चीज को हरा करने के चक्कर में इतना सारा पैसा बहा दिया अगर तुम एक हरे रंग के शीशों वाला चश्मा ले आते तो उस आदमी को पूरी दुनिया हरे रंग की दिखती। तुम पूरी दुनिया को हरा नहीं नहीं कर सकते। लेकिन हरा चश्मा लगाने से पूरी दुनिया हरी हो जाएगी।

तो दोस्तों हम भी उस आदमी की तरह लगे रहते है कि हमारे आस-पास के लोग हमारे हिसाब से चलें। लेकिन ऐसा नहीं होगा हमें अपनों को उनकी गलती निकालने के बजाय उनकी तारीफ के points ढूंढ़ने चाहिए। उनको देखने का अपना नजरिया बदलकर तो देखो सब कुछ ठीक हो जाएगा। हर जगह उनको अपने जैसा बनाने की जगह वो जैसे हैं उनको वैसा Accept करो।

                  आखिरी शब्द

दोस्तों अगर आपको हमारी यह Green प्रेरणादायक कहानी पसंद आयी हो तो इसे शेयर करना ना भूले। रोजाना ऐसी प्रेरणादायक कहानियां पढ़ने के लिए हमारे Newsletter को Subscribe करे।
Previous
Next Post »